क्रिप्टो रोबोट

एशियाई ट्रेडिंग सत्र

एशियाई ट्रेडिंग सत्र
0

Stock Market : चीन में कोरोना संक्रमण बढ़ने से एशियाई बाजारों पर दबाव! – News18

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) सहित एशिया के तमाम बाजारों पर सोमवार को दबाव रहेगा. चीन में कोविड-19 के मामले बढ़ने से दोबारा लॉकडाउन की स्थिति है, जिसने शंघाई कंपोजिट सहित एशिया के तमाम शेयर बाजारों की धड़कनें बढ़ा दी हैं. आज भारतीय निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी इसका असर दिखेगा और शुरुआती ट्रेडिंग में ही बिकवाली जोर पकड़ सकती है.

सेंसेक्‍स पिछले कारोबारी सत्र में भी सेंसेक्‍स 87 अंक टूटकर 61,663 के स्‍तर पर बंद हुआ था जबकि निफ्टी 36 अंक टूटकर 18,308 पर पहुंच गया था. एक्‍सपर्ट का कहना है कि चीन में कोरोना से पहली मौत का मामला सामने आने के बाद एशियाई बाजारों में निवेशक ठिठक गए हैं. अमेरिका और यूरोप में तेजी के बावजूद आज सुबह एशिया के तमाम बाजारों में गिरावट दिख रही है. इसका असर भारतीय निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी दिखेगा और वे शुरुआत से ही मुनाफावसूली की तरफ जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें – India GDP: चालू वित्त वर्ष में कितनी रहेगी भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट? जानिए डेलॉयट इंडिया ने क्या दिया अनुमान

अमेरिका और यूरोपीय बाजारों में तेजी
अमेरिका में फेड रिजर्व के ब्‍याज दरें बढ़ाने के संकेतों और महंगाई व खुदरा बिक्री के निराशाजनक आंकड़ों के बावजूद निवेशकों का उत्‍साह बना हुआ है और वे जमकर खरीदारी कर रहे हैं. पिछले कारोबारी सत्र के दौरान अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों एशियाई ट्रेडिंग सत्र में शामिल NASDAQ पर 0.01 फीसदी का उछाल दिख रहा था.

अमेरिका की तर्ज पर यूरोपीय बाजारों में भी पिछले कारोबारी सत्र के दौरान तेजी दिखी. यूरोप के ज्‍यादातर शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुए. जर्मनी के स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर पिछले सत्र में 1.16 फीसदी का उछाल दिखा तो फ्रांस का शेयर बाजार 1.04 फीसदी की तेजी पर बंद हुआ. इसके अलावा एशियाई ट्रेडिंग सत्र लंदन का स्‍टॉक एक्‍सचेंज भी 0.53 फीसदी की बढ़त बनाने में कामयाब रहा है.

दबाव में एशियाई बाजार
एशिया के ज्‍यादातर शेयर बाजार आज सुबह गिरावट पर खुले और लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं. सिंगापुर स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर आज सुबह 0.32 फीसदी की गिरावट है, जबकि जापान का निक्‍केई 0.01 फीसदी की मामूली उछाल पर कारोबार कर रहा है. हांगकांग के बाजार में 1.88 फीसदी की बड़ी गिरावट है तो ताइवान का शेयर बाजार 0.12 फीसदी की बढ़त पर कारोबार कर रहा. दक्षिण कोरिया के कॉस्‍पी पर भी आज 1.09 फीसदी का नुकसान दिख रहा है.

इन शेयरों पर लगाए मुनाफे वाला दांव
एक्‍सपर्ट के अनुसार, दबाव के बावजूद आज के कारोबार में कई ऐसे शेयर हैं जो निवेशकों का मुनाफा करा सकते हैं. इन शेयरों को हाई डिलीवरी पर्सेंटेज की श्रेणी में रखा जाता है. आज की ट्रेडिंग में हाई डिलीवरी पर्सेंटेज वाले स्‍टॉक्‍स में ICICI Bank, NTPC, Atul, SBI Life Insurance Company और Havells India शामिल हैं.

ये भी पढ़ें – खाने के लगभग सभी ऑयल हुए सस्ते, जानिए अब कितने रुपये लीटर मिल रहा है सरसों का तेल

विदेशी निवेशकों की बिकवाली जारी
भारतीय पूंजी बाजार में इस महीने विदेशी निवेशकों ने बंपर पैसे लगाए हैं, लेकिन कुछ सत्र में उनकी बिकवाली भी दिखी है. पिछले कारोबारी सत्र में भी विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बााजर से 751.20 करोड़ के शेयर निकाल लिए. इसी दौरान, घरेलू संस्‍थागत निवेशकों ने 890.45 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी भी की है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: BSE Sensex , Business news in hindi , Nifty50 , Share market , Stock market today

एशियाई शेयर बाजारों का मिलाजुला रूख, जानिए कैसे ट्रेड करेंगे आज भारतीय शेयर बाजार

Stock Market Update: कैसा रहेगा शेयर बाजार के निवेशकों के लिए मंगलवार का दिन ये जानने के लिए शेयर बाजार के हर निवेशका का मन उतावला होगा. आपको बता एशियाई ट्रेडिंग सत्र दें तो अंतरराष्ट्रीय संकेत मिल रहे रहे हैं उसके हिसाब से शेयर बाजार के लिए आज का दिन मिलजुला रह सकता है. कल रात अमेरिकी शेयर बाजार वैसे भारी गिरावट के साथ बंद हुए थे. लेकिन मंगलवार सुबह एशियाई शेयर बाजार में थोड़ी तेजी है.

एशियाई शेयर बाजारों का मिलाजुला रूख
Hangseng 0.79 फीसदी की तेजी के साथ ट्रेड कर रहा है. Jakarta Composite 0.30 फीसदी की तेजी के साथ ट्रेड कर रहा है. अमेरिकी शेयर बाजार में नैसडेक 3.62 फीसदी यानि 482 अंकों की गिरावट एशियाई ट्रेडिंग सत्र के साथ बंद हुआ था. हालांकि SGX Nifty लाल निशान में ट्रेड कर रहा है और उसके इंडेक्स में 72 अंकों की गिरावट है. इससे ये अंदाजा है कि भारतीय बाजार में बहुत बड़ी गिरावट शायद ना देखने को मिले. लेकिन बाजार का मूड और सेंटीमेंट जरुर बिगड़ा हुआ है. बीते चार ट्रेडिंग सत्र में भारतीय शेयर बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए हैं. जिसके चलते निवेशकों को 11 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

बाजार के लिए महंगाई और युद्ध बनी चिंता
रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध का 13वां दिन है. जिसके चलते वैश्विक उथल-पुथल मचा है. रूस पर आर्थिक प्रतिबंध के चलते कमोडिटी के दामों में उछाल है. कच्चा तेल 14 साल के रिकॉर्ड हाई पर जा पहुंचा है. एल्मुनिनियम से लेकर सोने के दामों में तेजी है. डॉलर के मुकाबले रुपये रिकॉर्ड नीचे जा पहुंचा है जो भारत की चिंता बढ़ा रहा क्योंकि इससे आयात महंगा होगा. जिसके चलते महंगाई बढ़ने की आशंका है. ऐसा हुआ ब्याज दरें बढ़ सकती है.

इससे पहले सोमवार को सेंसेक्स 1491.06 अंक यानी 2.74 फीसदी की गिरावट के साथ 52,842.75 के लेवल पर बंद हुआ था तो निफ्टी इंडेक्स 382.20 अंक यानी 2.35 फीसदी की गिरावट के साथ 15,863.15 के लेवल पर क्लोज हुआ था.

Stock Market : चीन में कोरोना संक्रमण बढ़ने से एशियाई बाजारों पर दबाव आज गिरावट से हो सकती है ट्रेडिंग की शुरुआत

भारतीय शेयर बाजार पर भी आज शुरुआती कारोबार में दबाव दिखेगा और निवेशक मुनाफावसूली की तरफ जा सकते हैं. चीन में कोरोना के मामले बढ़ने से एशिया के तमाम बाजारों में गिरावट दिख रही है और एक्‍सपर्ट का मानना है कि इसका असर आज घरेलू निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी दिख सकता है.

Stock Market : चीन में कोरोना संक्रमण बढ़ने से एशियाई बाजारों पर दबाव आज गिरावट से हो सकती है ट्रेडिंग की शुरुआत

हाइलाइट्ससेंसेक्‍स पिछले कारोबारी सत्र में भी 87 अंक टूटकर 61,663 के स्‍तर पर बंद हुआ. निफ्टी 36 अंक टूटकर 18,308 के स्‍तर पर पहुंच गया था. विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बााजर से 751.20 करोड़ के शेयर निकाल लिए. नई एशियाई ट्रेडिंग सत्र दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) सहित एशिया के तमाम बाजारों पर सोमवार को दबाव रहेगा. चीन में कोविड-19 के मामले बढ़ने से दोबारा लॉकडाउन की स्थिति है, जिसने शंघाई कंपोजिट सहित एशिया के तमाम शेयर बाजारों की धड़कनें बढ़ा दी हैं. आज भारतीय निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी इसका असर दिखेगा और शुरुआती ट्रेडिंग में ही बिकवाली जोर पकड़ सकती है. सेंसेक्‍स पिछले कारोबारी सत्र में भी सेंसेक्‍स 87 अंक टूटकर 61,663 के स्‍तर पर बंद हुआ था जबकि निफ्टी 36 अंक टूटकर 18,308 पर पहुंच गया था. एक्‍सपर्ट का कहना है कि चीन में कोरोना से पहली मौत का मामला सामने आने के बाद एशियाई बाजारों में निवेशक ठिठक गए हैं. अमेरिका और यूरोप में तेजी के बावजूद आज सुबह एशिया के तमाम बाजारों में गिरावट दिख रही है. इसका असर भारतीय निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी दिखेगा और वे शुरुआत से ही मुनाफावसूली की तरफ जा सकते हैं. ये भी पढ़ें – India GDP: चालू वित्त वर्ष में कितनी रहेगी भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट? जानिए डेलॉयट इंडिया ने क्या दिया अनुमान अमेरिका और यूरोपीय बाजारों में तेजी अमेरिका में फेड रिजर्व के ब्‍याज दरें बढ़ाने के संकेतों और महंगाई व खुदरा बिक्री के निराशाजनक आंकड़ों के बावजूद निवेशकों का उत्‍साह बना हुआ है और वे जमकर खरीदारी कर रहे हैं. पिछले कारोबारी सत्र के दौरान अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल NASDAQ पर 0.01 फीसदी का उछाल दिख रहा था. अमेरिका की तर्ज पर यूरोपीय बाजारों में भी पिछले कारोबारी सत्र के दौरान तेजी दिखी. यूरोप के ज्‍यादातर शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुए. जर्मनी के स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर पिछले सत्र में 1.16 फीसदी का उछाल दिखा तो फ्रांस का शेयर बाजार 1.04 फीसदी की तेजी पर बंद हुआ. इसके अलावा लंदन का स्‍टॉक एक्‍सचेंज भी 0.53 फीसदी की बढ़त बनाने में कामयाब रहा है. दबाव में एशियाई बाजार एशिया के ज्‍यादातर शेयर बाजार आज सुबह गिरावट पर खुले और लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं. सिंगापुर स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर आज सुबह 0.32 फीसदी की गिरावट है, जबकि जापान का निक्‍केई 0.01 फीसदी की मामूली उछाल पर कारोबार कर रहा है. हांगकांग के बाजार में 1.88 फीसदी की बड़ी गिरावट है तो ताइवान का शेयर बाजार 0.12 फीसदी की बढ़त पर कारोबार कर रहा. दक्षिण कोरिया के कॉस्‍पी पर भी आज 1.09 फीसदी का नुकसान दिख रहा है. इन शेयरों पर लगाए मुनाफे वाला दांव एक्‍सपर्ट के अनुसार, दबाव के बावजूद आज के कारोबार में कई ऐसे शेयर हैं जो निवेशकों का मुनाफा करा सकते हैं. इन शेयरों को हाई डिलीवरी पर्सेंटेज की श्रेणी में रखा जाता है. आज की ट्रेडिंग में हाई डिलीवरी पर्सेंटेज वाले स्‍टॉक्‍स में ICICI Bank, NTPC, Atul, SBI Life Insurance Company और Havells India शामिल हैं. ये भी पढ़ें – खाने के लगभग सभी ऑयल हुए सस्ते, जानिए अब कितने रुपये लीटर मिल रहा है सरसों का तेल विदेशी निवेशकों की बिकवाली जारी भारतीय पूंजी बाजार में इस महीने विदेशी निवेशकों ने बंपर पैसे लगाए हैं, लेकिन कुछ सत्र में उनकी बिकवाली भी दिखी है. पिछले कारोबारी सत्र में भी विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बााजर से 751.20 करोड़ के एशियाई ट्रेडिंग सत्र शेयर निकाल लिए. इसी दौरान, घरेलू संस्‍थागत निवेशकों ने 890.45 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी भी की है. ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें jharkhabar.com हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट jharkhabar.com हिंदी| Tags: BSE Sensex, Business news in hindi, Nifty50, Share market, Stock market todayFIRST PUBLISHED : November 21, 2022, 07:29 IST
Note - Except for the headline, this story has not been edited by Jhar Khabar staff and is published from a syndicated feed

हिमाचलः मातम में बदली खुशियां शादी से चंद रोज पहले युवक ने किया सुसाइड

Multibagger Stocks : इस सरकारी कंपनी ने एक साल में डबल कर दिया पैसा एक डील ने बढ़ाई.

What's Your Reaction?

like

0

dislike

0

love

0

funny

0

angry

0

sad

0

wow

0

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 2022: तारीख, समय, अन्य महत्वपूर्ण विवरण देखें

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 2022: तारीख, समय, अन्य महत्वपूर्ण विवरण देखें

नई दिल्ली: भारतीय स्टॉक एक्सचेंज बीएसई और एनएसई 24 अक्टूबर को मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए एक घंटे के लिए खुलेंगे। दिवाली या लक्ष्मी पूजा के अवसर पर दोनों एक्सचेंजों में 24 अक्टूबर को व्यापारिक अवकाश होता है। मुहूर्त ट्रेडिंग दिवाली के दिन एक घंटे का विशेष सत्र है जो निवेशकों और दलालों को एक्सचेंजों पर व्यापार करने की अनुमति देता है। यह 50 साल पुरानी परंपरा है जो इस शुभ दिन को मनाने के लिए साल भर चल रही है।

यह भी पढ़ें | आसुस ने लॉन्च किया पहला फोल्डेबल लैपटॉप ‘आसूस ज़ेनबुक 17 फोल्ड ओएलईडी’; विवरण जांचें

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, दिवाली नए साल की शुरुआत का प्रतीक है, और इस दिन मुहूर्त व्यापार पूरे साल धन और सफलता लाने के लिए कहा जाता है।

यह भी पढ़ें | महंगाई भत्ता वृद्धि: हरियाणा सरकार ने राज्य कर्मचारियों के लिए डीए बढ़ाकर 38% किया

मुहूर्त ट्रेडिंग क्या है?

मुहूर्त ट्रेडिंग दिवाली (दीपावली) पर एक घंटे के लिए शुभ स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग है। यह एक प्रतीकात्मक और पुराना अनुष्ठान है, जिसे व्यापारिक समुदाय द्वारा सदियों से बनाए रखा और मनाया जाता रहा है। जैसा कि दिवाली भी नए साल की शुरुआत का प्रतीक है, ऐसा माना जाता है कि इस दिन मुहूर्त व्यापार पूरे वर्ष भर धन और समृद्धि लाता है।

इस वर्ष मुहूर्त ट्रेडिंग की तिथि और समय क्या है?

इक्विटी, इक्विटी और डेरिवेटिव सेगमेंट में ट्रेडिंग 24 अक्टूबर को शाम लगभग 6:15 बजे शुरू होगी और ठीक एक घंटे बाद शाम 7:15 बजे समाप्त होगी।

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र का समय

नोमरल मार्केट ओपन – शाम 6:15 बजे
सामान्य बाजार बंद – शाम 7:15 बजे
स्थिति सीमा/संपार्श्विक मूल्य के लिए कट-ऑफ समय निर्धारित करें – शाम 7:25 बजे
व्यापार संशोधन समाप्ति समय – शाम 7:25 बजे

एनएसई के अनुसार, इस दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र में निष्पादित सभी ट्रेडों के परिणामस्वरूप निपटान दायित्व होंगे। दीपावली बालीप्रतिपदा के अवसर पर 24 अक्टूबर को एक्सचेंज बंद रहेंगे।

Author: Saurabh Mishra

Saurabh Mishra is a 32-year-old Editor-In-Chief of The News Ocean Hindi magazine He is an Indian Hindu. He has a post-graduate degree in Mass Communication .He has worked in many reputed news agencies of India.

एशियाई ट्रेडिंग सत्र

दिवाली 2022: विशेष 1 घंटे का मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र सोमवार को

दिवाली 2022: विशेष 1 घंटे का मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र सोमवार को

ट्रेडिंग इक्विटी और कमोडिटी डेरिवेटिव्स जैसे विभिन्न क्षेत्रों में होगी। (फ़ाइल) नई दिल्ली: प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज बीएसई और एनएसई सोमवार को एक घंटे का विशेष मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र आयोजित करेंगे, जिसमें एक नए संवत 2079…

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, बीएसई आज बंद रहेगा

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, बीएसई आज बंद रहेगा

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, बीएसई आज बंद रहेगा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एनएसई) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या बीएसई शुक्रवार, 5 नवंबर को दिवाली बालीप्रतिपदा के कारण बंद रहेंगे। साथ ही धातु और सर्राफा समेत…

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 2021: समय, महत्व और अन्य विवरण

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 2021: समय, महत्व और अन्य विवरण

मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र शाम 6:15 बजे शुरू होगा और गुरुवार शाम 7:15 बजे समाप्त होगा। नई दिल्ली: दीवाली पर मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए गुरुवार (4 नवंबर) को घरेलू इक्विटी सूचकांक (बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी)…

रेटिंग: 4.98
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 589
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *